सीमेंट ईट का बिज़नस कैसे शुरू करें? / bricks business plan in hindi

सीमेंट ईट का बिज़नस कैसे शुरू करें? bricks business plan in hindi

आज के इस लेख में हम आपको एक ऐसे शानदार बिज़नस के बारें में बताएँगे, जिसकी डिमांड वर्तमान में तो है ही और भविष्य में बहुत अधिक होने वाली है. दोस्तों आप सभी को मालूम ही होगा की लाल ईट को बैन लगा दिया गया है जिसके जगह पर फ्लाई ऐश ब्रिक्स और पेवर ब्लाक का बहुत अधिक उपयोग किया जा रहा है जिसके कारण यह एक हाई डिमांडेबल और प्रॉफिटेबल बिज़नस बन गया है.

सीमेंट ईट का बिज़नस

अतः आज के इस लेख हम आपके लिए एक ऐसे शानदार मशीन लेकर आये है जिसके माध्यम से आप दो शानदार बिज़नस कर पाएंगे, जिसमे पहला फ्लाई ऐश ब्रिक्स का बिज़नस और दूसरा पेवर ब्लॉक का बिज़नस. तो दोस्तों विडियो के अंत तक बने रहे, इस विडियो में हम आपको बिज़नस की जानकारी के साथ-साथ मशीन का लाइव प्रोसेस दिखायेंगे, साथ ही बिज़नस की लागत, मुनाफा, लाइसेंस और मार्केटिंग के बारें में विस्तार से बताएँगे. तो दोस्तों आइये देखते है.

फ्लाई ऐश ब्रिक्स बनाने का प्रोसेस

फ्लाई ऐश बनाने का पूरा प्रोसेस ३ स्टेप में होता है. जिसके पहला स्टेप में रॉ मटेरियल को पैन मिक्सर में डाला जाता है जिसे पैन मिक्सर अच्छे से मिक्स कर देता है जिसे आप विडियो में देख सकते है. उसके बाद दुसरे स्टेप में रॉ मटेरियल अच्छे से मिक्स होने के बाद विडियो के अनुसार कनवेयर बेल्ट के माध्यम से मेन हाइड्रोलिक मशीन के रिसीविंग हॉपर में जाता है.

fly ash bricks making process

अब इसके बाद तीसरे स्टेप में रॉ मटेरियल रिसीविंग हॉपर से मेन हाइड्रोलिक के अन्दर जाता है. अब फ्लाई ऐश ब्रिक्स या पेवर ब्लॉक बनाने के लिए जिस साइज़ का सांचा हाइड्रोलिक मशीन में लगा होता है. मशीन उस साइज़ में रॉ मटेरियल को बदल देता है जिसे आप विडियो में देख सकते है. इस तरह से फ्लाई ऐश ब्रिक्स एवं पेवर ब्लॉक् का निर्माण किया जाता है. अब बनाये गए ब्रिक्स को 8 से 16 घंटे के लिए छाया में रखा जाता है उसके बाद खुले जगह या धुप में रखकर पानी डालकर पकाया जाता है. जिसके बाद ब्रिक्स मार्केट में बिकने के लिए तैयार हो जाता है.

रॉ मटेरियल की जानकारी

दोस्तों ऐश ब्रिक्स बिज़नस में 3 प्रकार के raw material की जरुरत पड़ती है। जिसमे पहला फ्लाई ऐश होता है जो आप विडियो में देख सकते है यह प्लांट/ कंपनी का वेस्टेज मटेरियल होता है. जो बहुत ही सस्ते दर में मिल जाता है. दूसरा रॉ मटेरियल सीमेंट और तीसरा पानी है. इनके अलावा आप बेड मटेरियल, चिप्स, ifd एवं सिलिको स्लैग को भी मिला सकते है. रॉ मटेरियल को तैयार करने में इनकी जो मात्रा होती है उनको मशीन सेलर, मशीन सेलर मशीन को खरीदते समय आपको बता देंगे. जिससे आप अच्छी क्वालिटी के ब्रिक्स तैयार कर सकते  है.

ब्रिक्स मशीन का उत्पादन और कमाई

दोस्तों, हमारे द्वारा दिखाए गए ब्रिक्स मशीन से आप फ्लाई ऐश ब्रिक्स और पेवर ब्लाक बना सकते है। जो नए ज़माने की सबसे बेहतर हाइड्रोलिक प्रेस मशीन है, जिसमे हाई क्वालिटी के पेवर ब्लाक और ब्रिक्स तैयार होते ह. विडियो में  दिखाए गए मशीन का प्रोडक्शन 15000 प्रति शिफ्ट है. यदि एक दिन में 2 शिप्ट भी कार्य करते है तो 30000 ईट का निर्माण होगा.

और यदि मुनाफा की बात करें तो प्रति ईट सारा खर्च निकालकर कम से कम एक रूपये का प्रॉफिट जरुर होगा. इस तरह प्रतिदिन इस मशीन से सारा खर्च निकालकर 30 का शुद्ध मुनाफा होगा. आप इस ब्रिक्स मशीन को वीडियो के नीचे डिस्क्रिप्शन पर दिए गए  विक्रेता  के नंबर पर कॉल करके घर पर मंगवा सकते हैं।

सीमेंट ईट का बिज़नस

मेनपॉवर की जरुरत 

इस बिज़नस को शुरू करने के लिए आपको एक मशीन ओपेरटर, एक फिटर और एक इलेक्ट्रीशियन की जरुरत होगी इनके अलावा आपको 4 से 6 मजदुर की आवश्यकता होगी.

वार्रेंटी और मेंटेनेंस

विडियो में दिखाये गए मशीन में आपको एक साल की वार्रेंटी मिलती है. और अगर मेंटेनेस की बात करें तो मशीन फुल्ली आटोमेटिक होने के कारण ज्यादा मेंटेनेस की आवश्यकता नहीं होती है. समय समय पर ओइलिंग और ग्रीसिंग की जरुरत होगी.

जगह की जरुरत (वर्क स्पेस)  

ब्रिक्स मशीन के शेड एरिया लगभग 40 बाई 60 sqft और स्टैकिंग एरिया के लिए 100 बाई 100 sqft जगह की जरुरत होगी. इस प्रकार ब्रिक्स प्लांट के लिए टोटल 150 * 100 sqft जगह की जरुरत होगी.

ब्रिक्स बिज़नस की लागत

दोस्तों हमने जो ब्रिक्स मशीन आपको विडियो में दिखाया है वह फुल्ली आटोमेटिक हाई क्वालिटी की हाइड्रोलिक प्रेस मशीन है जिसके पुरे सेटअप की कीमत 14 लाख हजार रूपये है. जिसमे आपको मशीन के साथ पैन मिक्सर और कन्वेयर बेल्ट भी मिलेगा. जिसमे GST और ट्रांसपोर्ट अलग से लगेगा. इसके अलावा आपको जगह और तिन वर्कर की जरुरत होगी. साथ ही शुरवात में लगभग 50 हजार रूपये की रॉ मटेरियल खरीदने की जरुरत होगी। इस तरह इस बिज़नस में आपको लगभग 15 लाख से 20 लाख तक के इन्वेस्टमेंट में शुरू कर सकते है।

ब्रिक्स को कहा बेचें

ब्रिक्स को बेचने के लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरुरत नही होगी. क्योकिं लाल ईट आलरेडी बैन हो चूका है. अतः फ्लाई ऐश ब्रिक्स का डिमांड बहुत अधिक बढ़ गया है. सबसे पहले आप govt को ईट सप्लाई कर सकते है. इनके अलावा आप कंस्ट्रक्शन करने वाले ठेकेदार, होलेसेल दुकान को सप्लाई कर सकते है. इनके अलावा आप ग्रामीण इलाको में ग्रामीणों को भी सप्लाई कर सकते है.

bricks business plan in hindi

ब्रिक्स बिज़नस में रिस्क  

दोस्तों, हमारी एक बात और ध्यान से सुने, जिस प्रोडक्ट की आपको अच्छे से जानकारी हो और आपके एरिया में उसकी बहुत अधिक डिमांड हो वही बिज़नस शुरू करें।  पहले आप अपनी मार्केट बनाओ. नफे / नुकसान का अनुमान लगाओ. उसके बाद ही मशीन ख़रीदो. अगर बिना सोचे सॅम्झ किसी भी बिज़नस में हाथ डालोगे तो बिज़नस से नुकसान भी हो सकता है. वैसे तो ब्रिक्स का मार्किट बारहों महिना चलने वाला बिज़नस है पर आप अपने एरिया में सर्वे करके ही बिज़नस शुरू करे और इनसे अच्छी खासी कमाई कर सके।

अधिक जानकारी के लिए हमारे चैनल में अपलोड ब्रिक्स बिजनेस के विडियो को जरुर देखें.

तो दोस्तों उम्मींद करता हु यह लेख सोडा बिज़नस को कैसे शुरू करें? How to start Soda Business in India आपको बहुत पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख  Soda Business in India (सोडा बिज़नस) पसंद आया हो तो लाइक करें। और इन्हें लोगो को शेयर करें, ताकि वो भी सोडा बिज़नस आइडियाज ( Soda Business india) को अपने एरिया में शुरू करके अच्छी मुनाफा ले सके।

यदि आप कोई सवाल आप पूछना चाहते है तो निचे Comment Box में जरुर लिखे और अगर आपके को सुझाव है तो जरुर दीजियेगा। दोस्तों हमारे अन्य वेबसाइट computervidya.com एवं YouTube चैनल Computervidya को अगर आप अभी तक सब्सक्राइब नहीं किये तो तो जरुर सब्सक्राइब कर लेवें।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमारे साथ जुड़े

1,200FansLike
726FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

पॉपुलर पोस्ट्स

error: Content is protected !!